ATM का Full Form :

ATM का प्रयोग आज कल सभी लोग कर रहे है | ATM आज सबके जिंदगी का एक अहम् हिस्सा बन गया है|अब पैसे निकालने के लिए कोई बैंक नहीं जाना चाहता क्योकि बैंक में जाकर लाइन में लग कर इंतजार करना पड़ता है | और ATM का प्रयोग करके हम अपने बैंक खाते में जमा राशि को बहुत ही आसानी से निकाल लेते है |आप भी ATM का इस्तेमाल करते ही होंगे |अगर ATM का इस्तेमाल आप भी कर रहे है तो आपको उसके बारे में जानना बहुत जरुरी है की ATM क्या है ? ATM का Full Form क्या है ? ATM कैसे काम करता है ? एटीएम के क्या फायदे है | आपको इस Blog में एटीएम से सम्बंधित सारे सवालो के जवाब मिल जायेंगे| अगर आप ATM से जुडी सारी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप शुरू से लेकर last तक इस Blog Post को जरूर पढ़े|

एटीएम का फुल फॉर्म :

ATM का Full Form “Automated Teller Machine है |जिसको हिंदी में स्वचालित गणक मशीन कहते है| ATM का अविष्कार सन 1960 ई० में John Shepherd Barron के द्वारा किया गया था| और इसका प्रयोग सबसे पहले सन 1967 में लंदन में किया गया था | ATM को अलग -अलग देशो में अलग -अलग नामो से जाना जाता है |जैसे – एटीएम मशीन , Automated Banking Machine ,Cashpoint ,Cash Machine ,Cashline ,Tyme Machine ,Cash Dispenser .

ATM क्या है ?

एटीएम एक Electronic Device Machine है | जिसका उपयोग करके हम अपने बैंक खाता में जमा राशि को निकालने ,जमा करने के साथ -साथ हम अपने खाते का बचा हुआ Balance भी देख सकते है |अपना ही पैसा लेने के लिए पहले हमें बैंक में जाकर लाइन लग कर कागजी कारवाही करने के बहुत इंतजार के बाद हमें पैसा मिलता था | पर अब ATM के हो जाने से हमें बहुत फायदा हुआ है | अब पैसे लेने के लिए बैंक जाने के बजाय हम ATM पॉइंट पर जाकर आसानी से अपना पैसा निकाल लेते है | कभी-कभी किसी Festival या ऐसे भी ATM point पर भी लाइन लगाना पड़ जाता है पर उतना नहीं जितना बैंको में लगाना पड़ता है | हालांकि ऐसा हमेशा नहीं होता है | कभी -कभी ऐसा Sceane देखने को मिल जाता है | एटीएम से हम अपना पासवर्ड भी रिसेट या बदल सकते है | एटीएम से हम अपना लेन – देन की हुई राशि की भी जांच कर सकते है | ATM की मदद से हम Online Transaction भी कर सकते है | एटीएम से अब अनेको कार्य किये जा सकते है |

ATM प्रयोग करने से पहले इन बातो का ध्यान रखे –

अगर आप एटीएम का प्रयोग कर रहे है तो बहुत सावधानी पूर्वक इसका प्रयोग कीजिये | क्योकि जिस तरह से यह हमारे जीवन में उपयोगी है उसी प्रकार अगर सावधान नहीं रहा गया तो हानिकारक भी है | क्योकि सभी एटीएम कॉर्ड का उसका यूनिक कार्ड नंबर ,कार्ड की Expire Date ,Cv ,पासवर्ड नंबर होता है | अगर ये जानकारी किसी को पता चल गया तो वो आपके एटीएम का दुरपयोग कर सकते है या आपके खाते से छेड़ छाड़ भी कर सकते है या आपके खाते में मौजूद राशि को निकाल भी सकते है | इसलिय हमेशा अपने ATM कार्ड को संभाल कर रखे | इसकी जानकारी किसी से भी न शेयर करे | सुनिश्चित कर ले की जब आप ATM का प्रयोग कर रहे है तब आपका कोई कार्ड नंबर ,सीबी नंबर ,पासवर्ड न देख रहा हो | नहीं तो आप अपना पैसा गवा सकते है तो आप ऊपर बताई गयी बातो का हमेशा ध्यान रखे जब भी आप ATM का प्रयोग करे |

ATM Machine के कार्य –

जब हम अपना एटीएम कार्ड को एटीएम मशीन में डालते है तो एटीएम के ऊपर एक black कलर में encoded खाता की जानकारी होती है जिसे read करने के बाद हमसे पिन और transaction type पूछा जाता था | सही जानकारी देने के बाद एटीएम मशीन हमें लेन -देन की अनुमति दे देता है |

ATM Card Reader – ATM Card reader एटीएम मशीन में लगी एक Device होती है जो ATM पर दी गयी जानकारी को read करती है और read करने के बाद आगे बढ़ने की अनुमति देती है

Cash Dispenser – इसका प्रयोग पैसे निकालने में होता है | यह एक खास यन्त्र है |

Receipt Printer – यह एक प्रिंटिंग device है | जब हम एटीएम से पैसे निकालते है तो उसकी सारी जानकारी प्रिंट करके हमें देता है जिसपर बची हुई राशि ,access किया हुआ एटीएम का Location ,Date ,Time, etc खाते से जुडी जानकारी प्रिंट रहती है | आप चाहे तो इसे बंद भी कर सकते है क्योकि जब हम पैसा निकाल रहे होते है तब हमसे पूछा जाता है की आप Transaction की राशि को प्रिंट करना चाहते है की नहीं | अगर आप Yes करेंगे तभी आपकी जानकारी प्रिंट होकर आएगी अन्यथा Without प्रिंट के ही आपकी Transaction पूरी हो जाएगी |

Keypad Painal – keypad painal में हमें पासवर्ड डालने के लिए,कितना पैसा चाहिए वो लिखने के लिए ,कभी -कभी कोई जानकारी गलत पड़ जाये तो उसे उसे cancel ,clear करने के लिए बटन दिए होते है

Display – आप एटीएम कार्ड को एटीएम मशीन में डालने के बाद आपको आगे क्या करना है या आप क्या कर रहे है इन सभी बातो की जानकरी आपको Display के जरिये ही पता चलता है | जिस स्क्रीन पर आपको ये सभी जानकारी देखने को मिलती है वही Display है।

ATM से लाभ –

ATM से हमें बहुत सारे लाभ है | उनमे कुछ मुख्य है जो इस प्रकार से है –

  • एटीएम का प्रयोग करके हम अपना समय बचा सकते है जबकि बैंक में जाने पर जयदा समय लग जाता है |
  • एटीएम का प्रयोग करने के लिए हमें किसी की अनुमति का इंतजार नहीं करना पड़ता है जबकि बैंक में कर्मचारीओ की अनुमति का इंतजार करना पड़ता है |
  • एटीएम पॉइंट पर हमें बैंको की तरह हमेशा लाइन में नहीं खड़ा होना पड़ता है |
  • एटीएम हर दिन खुला रहता है जबकि बैंक Festival या ऐसे भी कभी कभी बंद रहता है |
  • एटीएम में कोई पेपर वाला काम नहीं करना पड़ता जबकि बैंक में पेपर work करना पड़ता है |
  • एटीएम से कोई भी जाकर पैसा निकाल सकता है जबकि बैंक में जिसके नाम से खाता है अगर पैसा निकालना है तो खाता जिसके नाम से है उसे ही जाना पड़ता है या साथ में रहना जरुरी होता है |

Leave a Comment